नुक्ताचीनी ~ Hindi Blog


Posts Tagged ‘वीर_ज़ारा’

लताजी को नहीं पता जी?

By • Oct 4th, 2005 • Category: रुपहली दुनिया

व्यक्तिपूजन हमारे यहाँ की खासियत है। मकबूलियत मिल जाने भर की देर है चमचों की कतार लग जाती है। मैंने एक दफा लिखा था राजनीति में अंगद के पाँव की तरह जमें डाईनॉसारी नेताओं की, दीगर बात है कि आडवानी ने बाद में दिसंबर तक तख्त खाली करने की “घोषणा” की। पर समाज के अन्य […]