नुक्ताचीनी ~ Hindi Blog


गरमा गरम पोस्ट

कोउ नृप होउ

हम सोचते हैं कि भ्रष्टाचार की जड़ नेता और राजनीति है इसके उलट दरअसल जड़ हमारे नौकरशाह ही हैं। कर्नाटक में २००८ से २०१३ तक भाजपा सरकार थी और उसके बाद से काँग्रेस। इस सरकारी चोलाबदली से जमीनी हकीकत पर कोई फर्क नहीं पड़ा, सरकारें बदलती हैं पर नौकरशाह तो नहीं बदलते। कोउ नृप होउ।


{2 टिप्पणीयाँ}
पूरा आलेख पढ़ें»


हालिया प्रविष्टियाँ

अर्थनीति जैसे विषयों में मेरी खास रुचि नहीं रही पर फिर भी इंडियन इकॉनामी ब्लॉग पर नज़र रखता रहा हूँ। गये साल होम लोन लेने के बाद मुझे भूसंपत्ति के बारे में थोड़ी जानकारी बढ़ाने का मौका मिला और लगातार बढ़ती कीमतों और कर्ज़ दरों को लेकर चिंतित भी रहा। इस बीच लोगों से चर्चा […]

अगर आपने गौर किया हो तो इस चिट्ठे में दाँयीं ओर “हाल के चिट्ठे” दिखते हैं, दरअसल ये जावास्क्रिप्ट इस चिट्ठे के एटम फीड को पार्स करके बनायी गई है। अगर आप अपने ब्लॉग पर इसका उपयोग करना चाहते हैं तो निम्नलिखित कोड यथास्थान पर पेस्ट कर दें। ब्लॉगर.कॉम वाले तो इसका सीधा प्रयोग कर […]

मेरा डिलिशीयस पुरालेखागार विकी शब्द अब आक्सफॉर्ड शब्दकोश मेंमूलतः हवाईयन भाषा का शब्द अब मानक अंग्रेज़ी शब्द भी! सामूहिक यत्नों की जय हो!टैग: [wikipedia wiki dictionary oxford विकी विकीपीडिया] एडमिन थीम प्रिव्यूवर्डप्रेस के मुखपृष्ठ को छेड़े बिना थीम एडमिन कंसोल से ही आजमाने का तरीका।टैग: [wordpress themes वर्डप्रेस] डीएक्टीवेट प्लगिनवर्डप्रेस के सारे प्लगिन एक साथ […]

लीक से हटकर ब्लॉगिंग की चर्चा पिछली प्रविष्टि में छेड़ी गई थी जिसमें मैंने टंबललॉग का ज़िक्र किया था। इस बार बात करते हैं चिट्ठाकारी के एक और अत्यंत ही रचनात्मक तरीके “हस्तलिखित चिट्ठाकारी” या “इंक ब्लॉगिंग” की। इंक ब्लॉग लिखने के लिये लेखक प्रविष्टि टाईप न कर अपनी हस्तलिपि में ही कागज़ पर लिख […]

थोड़ी सी धूल मेरी धरती की मेरे वतन की, थोड़ी सी खुशबू बौराई सी मस्त पवन की, थोड़ी सी धौंकनी वाली धक‍धक‍ धक‍धक‍ धक‍धक‍ सांसें, जिनमें हो जुनूं जुनूं, हो बूँदे लाल लहू की। अरे भैया प्रसून हम तो आपको एडमैन टर्न्ड लिरिसिस्ट समझ बैठे पर आप तो कुछ और ही निकले। धूल से धौंकनी […]