नुक्ताचीनी ~ Hindi Blog


गरमा गरम पोस्ट

कोउ नृप होउ

हम सोचते हैं कि भ्रष्टाचार की जड़ नेता और राजनीति है इसके उलट दरअसल जड़ हमारे नौकरशाह ही हैं। कर्नाटक में २००८ से २०१३ तक भाजपा सरकार थी और उसके बाद से काँग्रेस। इस सरकारी चोलाबदली से जमीनी हकीकत पर कोई फर्क नहीं पड़ा, सरकारें बदलती हैं पर नौकरशाह तो नहीं बदलते। कोउ नृप होउ।


{2 टिप्पणीयाँ}
पूरा आलेख पढ़ें»


हालिया प्रविष्टियाँ

जी हाँ, खास काम की बातें नहीं हैं। पर कई बार फालतू चीज़ें बताने का भी तो दिल करता है। जीटॉक पर आपको बताता तो खफा हो जाते, ईमेल पर बताना खुद मुझे गवारा नहीं, तो पोस्ट तो बनती है न? शुक्र मनाईये कि इसको तीन अलग अलग पोस्ट बना कर नहीं डालीं। तो पहली […]

स्क्रैपब्लॉगआपकी आनलाईन स्क्रैप बुक। टैग: [online+tools scrapblog web2.0] ज़िकीप्रोफाईल बनाईये और टैग किजिये। टैग: [socialsoftware tags web2.0 ziki] मेरा डिलिशीयस पुरालेखागार

आप जानते होंगे कि गूगल के परंपरागत गृहपृष्ठ को आप पर्सनलाईज़ यानी अपनी पसंद के मुताबिक ढाल सकते हैं। पहले तो खबरों की फीड, आज का शब्द जैसे मॉड्यूल ही उपलब्ध कराये गये थे पर अब आप गूगल की निर्देशिका से सेंकड़ों ऐसे मॉड्यूल्स में से अपना मनपसंद चुन सकते हैं और उसे अपने पर्सनलाईज़्ड […]

मेरा डिलिशीयस पुरालेखागार आईशेयररिडिफ का नया, मीडिया शेयरिंग, जालस्थल। पर नया क्या है?टैग: [ishare rediff media+sharing] बज़ एट्टीनटीवी 18 समूह का मनोरंजन व्यवसाय पर केंद्रित नया पोर्टलटैग: [tv18 bollywood movies entertainment]

निरंतर काउंटडाउन भाग ३ नामचीन हिंदी अखबार देशबंधु में मंझे साहित्यकार और चिंतक हरिशंकर परसाई का एक कॉलम छपता था “पूछिए परसाई से” जिसमें वे पाठकों के प्रश्नों के उत्तर देते थे। तमाम किस्म के प्रश्न, राजनीति, इतिहास, समकालीन परिदृश्य, साहित्य पर जिनमें कुछ चुटीले सवाल भी शामिल होते थे। निरंतर के पहले अवतार में […]