नुक्ताचीनी ~ Hindi Blog


Archive for November, 2003

गांववालों, मैं आ गया हूँ

By • Nov 10th, 2003 • Category: ज़िंदगी आनलाईन

आलोक और पद्मजा के बाद अब मेरी बारी हिंदी चिठ्ठों की दुनिया में प्रवेश की। पर भारत पाक की बातचीत की तरह ज्यादा उम्मीदें न रखें। रफ्तार तो नल प्वाईंटर वाली ही रहेगी, बदलेगा तो बस अंदाज़े बयां।