नुक्ताचीनी ~ Hindi Blog


डोमेन ले लो, डोमेन

By • Feb 20th, 2007 • Category: व्यक्तिगत

हिन्दी में डिग जैसी साईट बनाने के उद्देश्य से मैंने ६ ७ माह पहले दो डोमेन बुक कराये थे। पर योजना पर काम करते करते देर हो गई और मेरा मन इसे पर से उब चला है। मैं ये दोनों डोमेन नाम बेचना चाहता हूं, एक है कड़ीघर डॉट कॉम और दूसरा एक डॉट इन डोमेन है।

दूसरा डोमेन एक प्रतिष्ठित नेटवर्क का है जिनकी अंग्रेज़ी समेत अन्य कई भाषाओं में डिग जैसे साईटें हैं। इनके नेटवर्क से जुड़ने के दो सीधे लाभ हैं, एक इनकी डिग जैसे साईट का सॉफ्टवेयर (प्लिग नहीं) जिसमें वीडियो सपोर्ट भी है और नेटवर्क से मिलने वाला ट्रैफिक

यदि आप को रुचि हो तो मुझे debashish at gmail dot com पर ईमेल कर बोली लगायें (टिप्पणी न करें केवल ईमेल करें)। अपने ईमेल में मुझे यह भी बतायें कि आप की इन डोमेन का क्या प्रयोग करने की योजना है। हो सकता है मैं मदद करने के लिहाज़ से आपका साथ भी दे सकूं।

Tagged as: , ,

 

5 टिप्पणीयाँ »

  1. दादा, आपने दूसरे डोमेन का नाम तो बताया ही नहीं!! और क्या दूसरे डोमेन की नीलामी हो रही है? यदि हाँ तो क्या यह private bid वाला फ़न्डा है जिसमे यह नहीं पता चल सकता कि अभी तक की सबसे ऊँची बोली किसकी है? कृपया प्रकाश डालें। 🙂

  2. फिलहाल तो पूरी बिड ही प्राईवेट है, बिलाशक मैं डोमेन खरीदी मूल्य पर तो नहीं बेचने वाला 😉 पर बात यहाँ सिर्फ पैसे की नहीं है मैं चाहता हूँ की डोमेन का यथोचित प्रयोग हो सके और ये एक्सपायर न हो जायें क्योंकि उसके बाद किसी भी खरीददार को यही डोमेन सोने के भाव खरीदने पड़ेंगे।

  3. क्या बात है बडा अच्छा आईडिया मिला है आपकी पोस्ट पढ़ कर तो ! मेरे पास भी कुछ डोमेन एवं साईट्स है जो में अब बेचना चाहता था। पर क्या करता कुछ सुझ नहीं रहा था कि क्या करें व क्या ना करें ।

  4. वो तो ठीक है दादा लेकिन दूसरे डोमेन का नाम तो बताओ। यदि यहाँ नहीं बता सकते तो मेरे को ईमेल पर बता दो, या मोबाईल पर एसएमएस पर बता दो। यदि नहीं चाहोगे तो किसी को नाम नहीं बताउँगा लेकिन पता तो चले कि क्या बिक रहा है! 🙂

  5. debashish bhai,yah kya mohalle ke pheriwale ki bhanti aapne bhi chillana shuru kar diya :domain le lo koi behtar shirshak socha hota