नुक्ताचीनी ~ Hindi Blog


शब्दनिधि : आनलाईन शब्दकोश

By • Apr 3rd, 2006 • Category: बातें तकनीकी, ज़िंदगी आनलाईन

हिन्दी की जाल पर बढ़ती लोकप्रियता के साथ एक चीज़ जो लोगों को अक्सर ज़रूरत पढ़ती है वह है अंग्रेज़ी से हिन्दी का शब्दकोश, आनलाईन हो तो क्या कहने। जब बगल में न हो तो मैं स्वयं शब्दकोश डॉट कॉम का ही प्रयोग करता रहा हूँ। काफी समय पहले पंकज ने मुझे एक मुक्त लाईसेंस युक्त शब्दकोश दिया था। यह समूचा कोश सिर्फ एक टेक्सट फाईल में सिमटा थी। चुंकि फाईल काफी बड़ी थी, तकरीबन 3 एम.बी, तो अपने राम ने एक छोटा से वेब एप्लीकेशन लिखा था जो खोजे शब्द का अर्थ बता देता था। हाल में जब एजैक्स (जी नहीं एजैक्स के रहवासी समीर की बात नहीं कर रहा) पर कुछ हाथ आजमाने की खलल उठी तो इसी वेब एप्लीकेशन को बली का बकरा बना डाला और नामकरण कर दिया, शब्दनिधि।

और अब जब ये मेरे काम आ रहा है तो मैंने सोचा क्यों न इसका लोकार्पण भी कर दिया जाय, ताकी औरों का भी भला हो। तो मित्रों, शब्दनिधि अब जाल पर उपलब्ध है और आप इस का उपयोग कर बतायें कि यह आपको कैसा लगा। फिलहाल खोज की गति ज़रा लचर है, डेटासोर्स अब भी वही टेक्सट फाईल है, पर मैं कोशिश करूंगा कि यह डेटाबेस आधारित बन सके, शायद स्थान की कमी दिक्कत करे, माईजावासर्वर केवल ५ एम.बी. पसरने की ही जगह देता है। अगर यह गति बढ़ा सके तो फिर इस निधि को समृद्ध भी किया जा सकेगा आप सभी की मदद से।

Shabdnidhi

और हाँ, एजैक्स का नाम सुन कर उछल पड़े सुधि पाठकों के लिये जानकारी, मैंने शब्दनिधि में स्क्रिप्टाकुलस नामक एक मुफ्त जावास्क्रिप्ट लाईब्रेरी का प्रयोग किया है, इसकी खबर लगी थी लॉगअहेड से। हाल ही में पता चला कि इसका उपयोग वर्डप्रेस विजेट्स में भी हो रहा है। वर्डप्रेस विजेट्स की बात अगले एक पोस्ट में, जल्दी ही।

Tagged as: , , , ,

 

19 टिप्पणीयाँ »

  1. गूगल वाले स्पेल चेक करने की ए.पी.आई मुहैया करवाए हैं. हिंदी की भी करवाई है यह पता नही है. क्या किसी ने उस पर अब तक हाथ अजमाया है?

  2. Very nicely done. Excellent work.

  3. हां देख लिया। बढ़िया है। बधाई ! लगे रहो।

  4. अरे दद्दा हम जानते थे कि कुछ तो पक रहा है। मस्त रहो, व्यस्त रहो। एक और बात रवि जी के लिए, मेरे ख्याल से इस शब्दकोश में रवि जी की भी मेहनत लगी है। यदि रवि जी पढ़े तो इसकी कहानी बताएं।

    पंकज

  5. बहुत अच्छा देबू दा, बहुत सही।
    तभी तो मै कहूं, देबू दा कहाँ बिजी है। देखा मेरी बात सही निकली ना “देबू दा,खाली बैठने वाले लोगों मे से नही है, कोई ना कोई खिचड़ी पका ही रहे होंगे”

    बहुत अच्छा। थोड़े से सुझाव है, अलग से इमेल करूंगा।।

    देबू दा, इसकी एक अच्छी सी ग्राफिक्स बना तो हर जगह लिंक डाल सकें।

    धन्यवाद

  6. बढ़िया है देबू भाई। एक बात तो बताओ, क्या यह शब्दकोष से अधिक बढ़िया है? मेरा मतलब है कि मैंने बहुत बार पाया है कि शब्दकोष के कई शब्दों के अर्थ नहीं हैं और कईयों के वांच्छित उत्तर नहीं हैं, और मुझे विश्वास है कि आपने भी ऐसा ही महसूस किया होगा।

  7. सभी का शुक्रिया!
    पंकजः बिल्कुल, मैं तुमसे पूछने ही वाला था कि इस फाईल के निर्माता कौन लोग हैं। असली मेहनत तो उन्ही की है। रवि भाई आपके जवाब की प्रतीक्षा रहेगी।
    जीतूः आपके ईमेल का इंतज़ार है।
    अमितः तुम्हारा कहना काफी सही है कि कई दफा शब्दकोश डॉट कॉम पर अपेक्षित परिणाम नहीं मिलते पर मैंने कभी दोनों की तुलना कर कर नहीं देखा। जब सब प्रयोग करेंगे तो पता चलेगा। शब्दनिधि का एक फायदा है वाक्य प्रयोग, जो शायद शब्दकोश डॉट कॉम पर नहीं मिलता।

  8. जी नहीं, इस शब्दकोश में मेरा योगदान नहीं है.

    परंतु मेरे पास ऐसे शब्दकोशों की कुछ अन्य, अतिरिक्त फ़ाइलें हैं – पाठ (text) , स्प्रेडशीट या अन्य फ़ॉर्मेंट में उन्हें उपलब्ध करवाई जा सकती हैं.

    जिससे शब्द निधि एक सम्पूर्ण शब्दकोश (लगभग) बन सकता है.

    निसंदेह शब्दनिधि उत्तम प्रयास है. शुभकामनाएँ.

    क्या इसमें प्रारंभ-अंत या बीच के कुछ अंग्रेज़ी के अक्षरों को टाइप करने पर ड्रापडाउन सूची में उससे मिलते अक्षर डायनॉमिकली प्रकट हो सकते हैं – ताकि हम उन्हें चुन सकें – और क्या इसके उलट भी कोई स्क्रिप्ट लिख सकते हैं – जैसे हिन्दी का कोई शब्द है उसका अंग्रेज़ी निकालना हो?

  9. दादा ! बहुत धांसू काम हुआ है | दो कदम और आगे बढ गये | हिन्दी अर्थ के साथ-साथ वाक्य प्रयोग एक नयी चीज है | बधाई !!

    अब आप जैसे गुणीजन कुछ और मेहनत करें और “बोलता(वाचाल) शब्दकोश” भी तैयार कर लिया जाय |

  10. बहुत बढ़िया है. बधाई.
    शुरुआत में ये हाल है तो आगे एक ज़्यादा तेज़ वेबआधारित शब्दकोश की उम्मीद बनती है.
    बनस्थली का एक शब्दकोश देखा है. लिंक संलग्न कर रहा हूँ, शायद कुछ काम आ सके.
    http://www.indictrans.org/Dictionaries/English/Ban_dict_html/a.html

  11. क्या इसमें प्रारंभ-अंत या बीच के कुछ अंग्रेज़ी के अक्षरों को टाइप करने पर ड्रापडाउन सूची में उससे मिलते अक्षर डायनॉमिकली प्रकट हो सकते हैं – ताकि हम उन्हें चुन सकें

    रवि भाई, एजैक्स का प्रयोग यही सुविधा मूहैया कराने के लिये तो किया गया है। दरअसल माईजावासर्वर पर यह मेरी अपेक्षा से भी धीमा चल रहा है तो शायद आप यह अनुभव नहीं कर पाये। आप खोज टेक्सटबॉक्स में जैसे ही दो से ज्यादा अंग्रेज़ी अक्षर टाईप करेंगे मदद सूची तुरंत हाज़िर हो जायेगी। बस फिलहाल शुरुवाती अक्षरों से ही यह सूची बनती है।

    और क्या इसके उलट भी कोई स्क्रिप्ट लिख सकते हैं – जैसे हिन्दी का कोई शब्द है उसका अंग्रेज़ी निकालना हो?

    बिल्कुल हो सकता है। समय मिलते ही यह फीचर कार्यान्वित करने का प्रयास करुंगा।

  12. अनुनाद, हिन्दी ब्लॉगरः शुक्रिया! आपका भी साथ चाहिये ताकि यह समृद्ध हो सकते।

  13. गूगल वाले स्पेल चेक करने की ए.पी.आई मुहैया करवाए हैं. हिंदी की भी करवाई है यह पता नही है. क्या किसी ने उस पर अब तक हाथ अजमाया है?

    इस से मेरी मुराद ये थी की यदी टाईप किए हुए शब्द को पहले स्पेल चेक किया जाए और स्पेल चेकर को वो शब्द सही मिल जाए और उस शब्द का अगर हिंदी अर्थ उपलब्ध नही है तो वो शब्द अपने आप उस लिस्ट मे जुडे जिसके लिए हिंदी का शब्द देना बकाया है! अगर टाईप किए हुए शब्द की स्पेलिंग गलत है तो फ़िर उसे वो शब्द सुझाव दिखाए जाएं – फ़िर उनमे से चुने हुए सही शब्द के साथ उपर लिखा ट्रीटमेंट हो!

  14. बहुत अच्छा

  15. बढ़िया है देबू भाई। अंग्रेजी के वाक्‍य देने की कोई आवश्‍यकता है क्‍या। अंग्रेजी से हिंदी में हिंदी का वाक्‍य ज्‍यादा असरदार हो सकता है। लेकिन ये सब फाईल साईज बड़ा ही करेंगे।

  16. आपका शब्दनिधि का कार्य काफी सराहनीय है। शब्दकोश के निर्माण करने में मुझे यह अनुभव हुआ है कि इस तरह के कार्य में इंटरफेस का अच्छा होना काफी आवश्यक है और एजेक्स इसमें काफी फायदेमंद है!

  17. मनीश, धन्यवाद! मैं तो आपके जालस्थल के काफी पुराना प्रशंसकों में से एक हूँ। आपका कार्य भी कम सराहनीय नहीं है। जैसा कि मैंने पहले कहा, शब्दनिधि में असली काम तो इस निधि को बनाने वालों का है, मैंने तो केवल इंटरफेस बनाने भर का काम किया है। बधाई के सही पात्र वही लोग हैं।

  18. […] हिन्दी के लिए देखते ही देखते कोई दर्जन भर ऑनलाइन अंग्रेज़ी-शब्दकोश उपलब्ध हो चुके हैं और नए-नए ऑनलाइन शब्दकोश आना जारी है. अब हिन्दी-हिन्दी शब्दकोश व शब्दसंग्रह (थिसॉरस) भी जारी किया जा चुका है जो साहित्यकारों के लिए अत्यंत उपयोगी है. ऑनलाइन अंग्रेजी-हिन्दी शब्दकोशों की सूची में एक और नाम जुड़ा है शब्दनिधि. इसे देबाशीष ने अंतरजाल की नवीनतम तकनॉलाज़ी एजेक्स का इस्तेमाल कर बनाया है और इसमें काफ़ी विस्तार की गुंजाइशें भी हैं. एक अन्य, आइट्रांस आधारित हिन्दी अंग्रेजी हिन्दी ऑनलाइन शब्दकोश भी है हिन्दी या अंग्रेज़ी किसी भी भाषा में शब्दों के अर्थ ढूंढने की सुविधा देता है. हिन्दी में मिलते जुलते शब्दों को ढूंढने का यह बढ़िया स्थल है. आपको अपने रदीफ़-काफ़िये के लिए उचित शब्दों की खोज यहीं करनी चाहिए. […]

  19. ab kya kahen sab kuch to dusaron ne likh diya hai
    i am pride to be indian
    badai