नुक्ताचीनी ~ Hindi Blog


Posts Tagged ‘कंटेम्पररी_आर्ट’

कौड़ियों से करोड़ों?

By • Oct 2nd, 2005 • Category: रुपहली दुनिया

जो यह हजरत कह रहे है कुछ कुछ वैसा ही ख्याल मेरा भी है। पर पहले बात इस पेंटिंग, जिसका नाम यकीनन कुछ भी हो सकता था, “महिशासुर” की, यह तैयब मेहता साहब की पेंटिंग है। आपने सुना ही होगा कि यह तिकड़म १ नहीं २ नहीं ३ नहीं पूरे ७ करोड़ रुपये में किसी […]